अभी है उम्मीद

जिंदगी न मिलेगी दुबारा

24 Posts

46 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 12850 postid : 17

बेटी बचाओ

Posted On: 27 Nov, 2012 में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Very Cuteबाबुल की आन और शान है बेटी ,
इस धरा पर मालिक का वरदान
ही बेटी ,


Read:यादों का धुआँ


जीवन यदि संगीत है तो सरगम

ही बेटी ,

रिश्तो के कानो में भटके इन्सान
की मधुबन सी मुस्कान है  बेटी,


Read:5 साल बाद


जनक की फूलवारी में कभी प्रीत

की क्यारी में ,
रंग और सुगंध का महका गुलबाग
ही बेटी ,

त्याग और स्नेह की सूरत है ,
दया और रिश्तो की मूरत ही
बेटी ,

कण – कण है कोमल सुंदर
अनूप है बेटी ,
ह्रदय की लकीरो का सच्चा
रूप है है बेटी ,


Read:पिता के पास लोरियाँ नही होती



अनुनय , विनय , अनुराग

है बेटी ,
इस वसुधा और रीत और प्रीत
का राग है बेटी ,

माता – पिता के मन का
वंदन है बेटी ,
भाई के ललाट का चंदन
है बेटी ।


Read:प्यार जिन्दगी है: एक प्यारी सी प्रेम कविता

Tag: Save Daughter, Daughter, Beti, Embryo, बेटी  बचाओ , भ्रूण ,ह्त्या, भ्रूण ह्त्या,



Tags:                 

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (3 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

0 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments


topic of the week



latest from jagran